Input Device kya hai 2021

 

Input Device kya hai

Hello आप सभी का स्वागत है हमारे Blog मैं आज इस पोस्ट में हम आपको बताएंगे कि Input Device kya hai और साथ ही बताएंगे कि इनपुट डिवाइस कितने प्रकार के होते हैं। 


कंप्यूटर और मनुष्य के बीच संपर्क स्थापित करने के लिए इनपुट आउटपुट युक्तियों का प्रयोग किया जाता है। इनपुट युक्तियों का प्रयोग कंप्यूटर को डाटा और निर्देश देने के लिए किया जाता है।


Input Device क्या है?


वह युक्तियां,जिनका इस्तेमाल यूजर के द्वारा कंप्यूटर को डाटा और निर्देश देने के लिए किया जाता है, वह इनपुट युक्तियां कहलाती हैं। इनपुट युक्तियां यूजर से इनपुट लेने के बाद इसे मशीनी भाषा में परिवर्तित कर देती है और इस परिवर्तित इनपुट को सीपीयू के पास भेज देती है। कुछ प्रमुख इनपुट युक्तियां निम्न प्रकार है। 


1. Keyboard (कीबोर्ड) 


यह सबसे प्रमुख इनपुट युक्ति है, जो टाइपराइटर के समान दिखाई देती है। इसमें टाइपराइटर की तरह ही बहुत से बटन या कुंजियां होती हैं। इन कुंजियों को दबाकर कोई भी पाठ्य जैसे शब्द, संख्याएं, चिन्ह आदि टाइप किए जा सकते हैं। इसका प्रयोग कंप्यूटर में डाटा एवं निर्देशों को कंप्यूटर की मेमोरी तक पहुंचाने में किया जाता है। आजकल पेंटीअम प्रोसेसर वाले कंप्यूटर के साथ जिस की बोर्ड का प्रयोग किया जाता है उसमें 105 से अधिक कुंजियां होती हैं।


प्रमुख कुंजियों का परिचय कुछ इस प्रकार है 


1. वर्णमाला कुंजियां (alphabet keys)


2. संख्या कुंजियां (number keys)


3. एस्केप कुंजी (escape key)


4. फंक्शन कुंजियां (function keys)


5. कर्सर कंट्रोल कुंजियां (cursor control keys)


6. संख्यात्मक कीपैड (numeric keypad)


7. कंट्रोल कुंजी (control key)


8. आल्ट कुंजी (alt key)


9. एंटर कुंजी (enter key)


10. शिफ्ट कुंजियां (shift keys)


11. बैकस्पेस कुंजी (backspace key)


12. संपादन कुंजियां (editing keys)


13. कैप्स लॉक कुंजी (caps lock key) 


14. अन्य कुंजियां (other keys)


विशेषताएं 

 

1. इसके द्वारा इनपुट डाटा को कंप्यूटर में सही तरीके से भेजा जा सकता है।


2. इसमें विभिन्न प्रकार के तरीकों से डाटा भेजा जा सकता है।


2. Mouse (माउस) 


माउस हाथ में पकड़ कर चलाई जाने वाली एक इनपुट युक्ति है यह एक केबल द्वारा सीपीयू से जुड़ा रहता है इसका उपयोग मॉनिटर के पर्दे पर कर्सर को कंट्रोल करने में किया जाता है।माउस एक छोटी डिब्बी के आकार का होता है इसको हाथ से पकड़ कर एक समतल पैड पर सरकाया जाता है,जिसे माउस पैड कहते हैं। माउस के ऊपर दो बटन भी लगे होते हैं जिन्हें बाया और दाया बटन कहा जाता है।

हम इन बटन को दबाकर कंप्यूटर को इनपुट देते हैं।मॉनिटर के परदे पर एक ऊपर उठे हुए तिरछे तीर जैसा चिन्ह होता है, जिसे माउस प्वाइंटर कहा जाता है। यह प्वाइंटर माउस की हलचल के अनुसार ही हलचल करता है। जब माउस को उसको पेड पर सरकाया जाता है, तब माउस प्वाइंटर भी स्क्रीन पर उसी दिशा में सरकता है। हम मॉनिटर की स्क्रीन पर बनी हुई किसी भी वस्तु पर माउस प्वाइंटर लाकर और क्लिक करके उस वस्तु को चुन सकते हैं।जब हम माउस प्वाइंटर द्वारा किसी वस्तु को एक स्थान से खींच कर दूसरे स्थान पर छोड़ते हैं तो इस क्रिया को छोड़ना या ड्रॉपिंग कहा जाता है। इन क्रियाओं की आवश्यकता भी विंडोज में या विंडोज आधारित प्रोग्रामों पर कार्य करते समय होती है।


विशेषताएं 


1. इससे ऑब्जेक्ट और ऑप्शंस को आसानी से सिलेक्ट किया जा सकता है।


2. इसका प्वाइंटिंग युक्ति के लिए अधिकतम प्रयोग किया जाता है।


माउस के प्रकार 


1. यांत्रिक माउस (mechanical mouse)


2.ऑप्टिकल माउस (Optical mouse)


3. लेजर माउस (Laser mouse)


3. Joystick (जॉयस्टिक) 


जॉय स्टिक का प्रयोग कंप्यूटर पर वीडियो गेम खेलने में किया जाता है। जॉय स्टिक की मदद से हम स्क्रीन पर चलती किसी भी वस्तु की दिशा बदल सकते हैं और उसे आगे पीछे ऊपर नीचे ले जा सकते हैं। जॉय स्टिक में एक बटन भी लगा होता है जिसे पुश बटन (push button)या फायर बटन (fire button) कहा जाता है।


विशेषताएं 


यह एक ऐसी युक्ति होती है जिसे हम एक हाथ में आसानी से पकड़ कर वीडियो गेम्स को चला सकते हैं।


4. Light Pen (लाइट पेन) 


यह भी जॉय स्टिक और माउस की तरह ही एक प्वाइंटिग डिवाइस है। यह डिजाइनरो के लिए बहुत ही उपयोगी डिवाइस है। इस पेन से हम जो भी लिखते हैं या बनाते हैं वह उसी रूप में कंप्यूटर की स्क्रीन पर दिखाई पड़ता है। इसका उपयोग कंप्यूटर ऐडीड डिजाइनिंग (computer aided designing) जैसे कार्यों में किया जाता है।


विशेषताएं


1. इसका उपयोग करना बहुत ही आसान है।


2. इसका उपयोग computer-aided डिजाइनिंग (CAD) जैसे प्रोग्रामों में किया जाता है।


3. इसका कंप्यूटर स्क्रीन पर सीधा प्रयोग किया जा सकता है।


5. Scanner (स्कैनर) 


स्कैनर एक इनपुट डिवाइस है जो कि इमेज को इलेक्ट्रॉनिक रूप में बदलने के लिए प्रकाश को इनपुट की तरह इस्तेमाल करता है और फिर चित्र को डिजिटल रूप में चेंज करने के लिए कंप्यूटर में भेजता है स्कैनर का उपयोग किसी भी डॉक्यूमेंट को उसके वास्तविक रूप में स्टोर करने के लिए किया जा सकता है, जिससे उसमें आसानी से कुछ बदलाव किए जा सके यह पेपर पर लिखे हुए डाटा को डिजिटल रूप में बदलने का काम करता है।


विशेषताएं 


स्केनर से किसी भी प्रिंटिंग इमेज को डिजिटल फॉर्मेट में बदला जा सकता है और उन्हें किसी अन्य डॉक्यूमेंट में प्रयोग किया जा सकता है।

यह भी पड़े

Sandesh App kya hai 2021

निष्कर्ष 


मेरी इस पोस्ट में मैंने आज इनपुट डिवाइस के बारे में साधारण सी जानकारी दी है जैसे की Input Device kya hai कितने प्रकार के होते हैं और किस प्रकार काम करते है मेरी इस पोस्ट से संबंधित आपके जो भी प्रशन (question) हो, तो मुझसे comment section में जरूर पूछे उम्मीद करते हैं आपको यह पोस्ट पसंद आए।

Oldest